How To Start Blogging in Hindi

How To Start Blogging in Hindi ? ब्लॉग्गिंग एक ऑनलाइन बहुत ही साधारण इंटरनेट के ऊपर एक तरह का कार्य है जिस से आप अपना कंटेंट तथा आपकी जिस काम में रूचि है चाहे व एजुकेशन से सम्बंधित या फिर ब्यूटी या हेल्थ से सम्बंधित टॉपिक तथा अन्य प्रकार के टॉपिक होते है । ब्लॉग्गिंग में आप आप अपना ज्ञान इंटरनेट पर लिख कर पब्लिक में शेयर कर सकते है । तथा आपको साथ ही इस बात का धयान रखना होगा की आप कही इंटरनेट से कॉपी पेस्ट कर के अपना ब्लॉग ना लिखे ऐसा करने से गूगल को पता चल सकता है तथा व आपका ब्लॉग बंद भी कर सकता है।

व्लॉगिंग का क्या होता है? व्लगगिंग में हम अपना कंटेंट एक वीडियो के माध्यम से पब्लिक तक पहुंचाते है ।

ब्लॉग्गिंग स्टार्ट करने से पहले आपको किन बातो का ध्यान रखना जरूरी है ?

ब्लॉग्गिंग शुरू से पहले हमें बहुत सी बातो का ध्यान रखना पड़ता है , सबसे पहले आपके पास एक अपना कंटेंट होना चाइये जिसको लेकर आप ब्लॉग्गिंग स्टार्ट करना चाहते है । आप खाने की रेसिपी से सम्बंधित , कपड़ो से सम्बंधित , स्वास्थ से सम्बंधित किसी भी अन्य प्रकार का टॉपिक लेके आप ब्लॉग्गिंग स्टार्ट कर सकते है।

टॉपिक चुनने के बाद आगे क्या करना होगा ?

अब आपने अपना टॉपिक चुन लिए है इसके बाद क्या करना है ? इसके बाद आपको इंटरनेट पर जाकर एक डोमेन तथा वेब होस्टिंग परचेस करनी है डोमेन में आप DOT  COM & डॉट  इन चुन सकते है इन दोनों ही डोमेन से आपकी वेबसाइट पर एक अच्छा प्रभाव पड़ता है । अगर आपको एक अच्छा और सस्ता डोमेन खरीदना है तो आप go-daddy  तथा अन्य प्रकार के डोमेन प्रोवाइडर पर जाकर अपना डोमेन खरीद सकते है । डोमेन खरीदने के बाद आपको एक अछि वेब होस्टिंग भी खरीदनी पड़ेगी ।

How To Start Blogging in Hindi

डोमेन क्या होता हो ? आम तोर पर आप जब कभी इंटरनेट पर किसी वेबसाइट को ओपन करते है तो उसमे आपको डॉट कॉम या डॉट इन दिखाई देता है वो आपकी वेबसाइट की पहचान होती है तथा उसे ही डोमेन कहा जाता है ।

वेबहोस्टिंग क्या होती है ? वेबहोस्टिंग एक तरह से आपकी वेबसाइट को इंटरनेट पर हर वक़्त स्टार्ट रखती है तथा आपके डाटा को इंटरनेट पर स्टोर करती है, साथ हे साथ आपके के डाटा को सुरक्षित रखती है ।

पूरी वेबसाइट बन के बाद आपको आगे क्या करना होता है ?

वेबसाइट तथा ब्लॉग बन ने पर आपको अपने ब्लॉग पर पेज सेट करने होते है । पेज सेट सेट करने के लिए आपको वर्डप्रेस के डैशबोर्ड में जाना होता है आपको वह पेजेज का ऑप्शन दिखेगा आप ऐड नई पेज पर क्लिक करके अपने पेज को बना के पोस्ट कर दीजिये । तथा अगर आपको पेज को अपने मेनू बार पर लाना है तो आप दुबारा डैशबोर्ड पर जाकर मेनू पर क्लिक करेंगे तथा अपना पेज आप आसानी से ऐड कर सकते है

पेज ऐड करने के बाद आपको क्या करना है होता है ? पेज के बाद आपको अपना ब्लॉग गूगल सर्च कंसोल पर जाके वेरीफाई करना होता है ताकि गूगल आपकी वेबसाइट गूगल पर रैंक करा सके तथा लोगो को आपकी वेबसाइट दिखने लगे ।

गूगल सर्च कंसोल में वेबसाइट को कैसे वेरीफाई करे ? आपको अपने डैशबोर्ड में जाना है वह आपको एक प्लगइन का ऑप्शन दिखाई देगा आप वह ऐड न्यू पर पर क्लिक करके Yoast Seo सर्च कर के इनस्टॉल कर लेना है उसके बाद आपको गूगल पर जाकर गूगल सर्च कंसोल में जाके आपको अपना डोमेन वह पर टाइप करना है वह से आपको एक गूगल एक कोड देगा जिसे आपको Yoast की सेटिंग में जाकर वेबमास्टर टूल के अंदर गूगल वेरिफिकेशन क जगहे पेस्ट कर देना है , पेस्ट करने के बाद आपको दुबारा गूगल सर्च कंसोल में जाकर आपको एक वेरीफाई का बटन दिखाई देगा उसपर आपको क्लिक कर देना है ऐसा करने से आपकी प्रॉपर्टी मतलब आपकी वेबसाइट तथा ब्लॉग वेरीफाई हो जायेगा।

How To Start Blogging in Hindi

अपना पहला पोस्ट कैसे डाले ?

आपको अपने डैशबोर्ड में जाके पोस्ट पर क्लिक कर के ऐड पोस्ट पर क्लिक करना है, तथा आपको कुछ बातो की सावधानी रखनी है लिखते समय की आपका आप कही इंटरनेट से कॉपी पेस्ट ना करे , तथा अपने आर्टिकल की वर्ड लिमिट काम से काम 600-950 के बिच वर्ड्स का आर्टिकल लिखे । साथ ही साथ आपको अच्छा और साफ़ आर्टिकल लिखना होगा ।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *